Blog

रत्न रहस्य

औषधि मणि मंत्राणां-ग्रह नक्षत्रा तारिका।भाग्य काले भवेत्सिद्धिः अभाग्यं निष्फलं भवेत्।। रत्न शब्द का शाब्दिक अर्थ होता है – “श्रेष्ठ” रत्न प्राय: दो प्रकार के होते है – खनिज रत्न और जैविक रत्न। खनिज रत्न उन रत्नो को कहते है जो… Read More

yantra

“यन्त्र” रहस्य

“ॐ ब्रह्मा मुरारि स्त्रिपुरान्तकारी भानुः शशी भूमिसुतो: बुधश्च। गुरुश्च शुक्र: शनि: राहु केतव: सर्वे ग्रहा: शांति करा: भवन्तु।।” आज के वैज्ञानिक युग मे जो स्थिति रसायन विज्ञान की है,वही यंत्र विज्ञान की है। यंत्रवत(आधुनिक मशीन के समान) शीघ्रता से कार्य… Read More

बीज मंत्रो का रहस्य

ध्यानेन परमेशानि यद्रूपं समुपस्थितम् । तदेव परमेशानि मन्त्रार्थ विद्धि पार्वती ।। अर्थात् जब साधक सहस्रार चक्र में पहुंचकर ब्रह्मस्वरूप का ध्यान करते-करते जब स्वयं मंत्र स्वरूप या तादात्म्य रूप हो जाता है,उस समय जो गुंजन उसके हृदय-स्थल में होता है,… Read More

Depression(अवसाद ),नींद की समस्याओ का अचूक “वैदिक उपाय” ।

डिप्रेशन(अवसाद),नींद ना आना,नींद में भयभीत होना,मानसिक तनाव की वजह से नींद में बार बार उठ जाने की समस्या का आजमाया हुआ और अचूक उपाय। अगर आप या कोई और जो आपका नजदीकी या परिचित हो उन्हें डिप्रेशन की वजह से… Read More

शनि साढे साती का कष्ट साढ़े सात साल नहीं साढ़े सात सप्ताह में दूर।

शनि की साढ़े साती के कष्ट के बारे में सभी लोग जानते ही है,लेकिन मात्र एक छोटे से उपाय और साढ़े सात सप्ताह में ही साढ़े साती के कष्ट मुक्ति का पूर्ण प्रभाव प्राप्त करे। इस उपाय के लिए आपको… Read More